Do You Suffer From Sleep Apnea? Know All About The Symptoms And Causes

0
122

ऑब्सट्रक्टिव स्लीप एपनिया की दवाएं और जटिलताएं: स्लीप एपनिया एक ऐसी बीमारी है जो बहुत गंभीर हो सकती है। लंबे समय तक इसका सेवन करना और इस बीमारी का इलाज न कराना आपकी सेहत के लिए खतरनाक हो सकता है। यह नींद से जुड़ा सबसे आम श्वसन विकार है जहां आपकी सांस कई बार शुरू और रुकती है। कई बार सांसें अचानक चलने लगी और नींद में खलल पड़ा। जो लोग इस बीमारी से पीड़ित होते हैं उनके मस्तिष्क में ऑक्सीजन की कमी होने लगती है, जिससे कई समस्याओं का खतरा होता है।

आइए जानते हैं स्लीप एपनिया से होने वाली समस्याओं के बारे में।

ऑब्सट्रक्टिव स्लीप एपनिया की जटिलताओं

1- ऑब्सट्रक्टिव स्लीप एपनिया एक गंभीर बीमारी है। इससे पीड़ित लोगों को हर रोज थकान, नाराजगी और सुस्ती महसूस करने की समस्या होती है।
2- स्लीप एपनिया से पीड़ित व्यक्ति की सर्जरी में भी दिक्कतें आती हैं। एनेस्थीसिया देने के बाद लोगों को सांस लेने में कठिनाई बढ़ सकती है।
3- ऐसे लोग काम करते, गाड़ी चलाते या कई बार टीवी देखते हुए सो जाते हैं।
4- जिन लोगों को यह बीमारी होती है, उनके लिए ध्यान केंद्रित करना मुश्किल होता है, खासकर बच्चों के लिए।
5- इस रोग में आपके रक्त में ऑक्सीजन का स्तर कम होने लगता है जिससे रक्तचाप बढ़ जाता है।
6- रक्तचाप बढ़ने से कार्डियो सिस्टम पर जोर पड़ता है। स्लीप एपनिया से पीड़ित ज्यादातर लोगों को उच्च रक्तचाप की समस्या होती है।
7- ब्लड प्रेशर की समस्या के कारण ऐसे लोगों में हृदय संबंधी रोग होने का खतरा बढ़ जाता है।
8- यदि आप एक अवरोधक स्लीप एपनिया रोगी हैं, तो आपको दिल का दौरा, दिल की विफलता और स्ट्रोक का खतरा बढ़ जाता है।
9- इस रोग में हृदय की धड़कन असामान्य हो जाती है, जिससे रक्तचाप कई बार गिर जाता है।
10- स्लीप एपनिया के साथ, यदि आपको हृदय रोग है, तो अचानक मृत्यु का खतरा काफी बढ़ जाता है।

स्लीप एपनिया के लिए संबंधित उपचार

स्लीप एपनिया एक गंभीर बीमारी हो सकती है, लेकिन इसका इलाज किया जा सकता है। इस रोग में पीठ के बल सोने पर भारी खर्राटे आते हैं इसलिए एक तरफ करवट लेकर सोना पड़ता है।

उपचार के दौरान कई बार माउथपीस फिट किया जाता है जो जबड़े पर दबाव डालता है। कई मामलों में सर्जरी की जाती है। कुछ उपचार विधियों में एक ऐसे उपकरण का उपयोग किया जाता है जो सोते समय आपके जीवन की पटरी को खुला रख सकता है। अगर आपको सोते समय अचानक से सांस लेने में तकलीफ होती है या आप पूरे दिन थके और चिड़चिड़े रहते हैं तो आपको तुरंत डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।

अस्वीकरण: एबीपी न्यूज इस पेपर में उल्लिखित विधियों, उपचारों और दावों की पुष्टि नहीं करता है। कृपया मान लें कि यह केवल एक सुझाव है। ऊपर बताई गई किसी भी दवा / उपचार / आहार का पालन करने से पहले कृपया एक चिकित्सक से परामर्श लें।

यह भी पढ़ें: बप्पी लाहिड़ी की मौत: बप्पी लाहिड़ी की मौत का कारण बनी ये बीमारी, अगर आपके साथ भी ऐसा हुआ तो हो जाएं सावधान!

नीचे देखें स्वास्थ्य उपकरण-
बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की गणना

आयु कैलकुलेटर के माध्यम से आयु की गणना

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here